अटकन चटकन Atkan Chatkan Lyrics | Lydian Nadhaswarams

अटकन चटकन Atkan Chatkan Lyrics in Hindi is written by Shiv Hare, Runaa Rizvii Shivamani Atkan Chatkan song sung by Lydian Nadaswaram, R.S.Rakthaksh, Idhazhiga. Music is given by Drums Shivaman.

Song : Atkan Chatkan
Writer : Shiv Hare, Runaa Rizvii Shivamani
Singer : Lydian Nadaswaram, R.S. Rakthaksh, Idhazhiga
Music : Drums Shivaman

Atkan-Chatkan-Lyrics

Atkan Chatkan Lyrics in ENGLISH

Kacha goli gilli danda tapu Or Pakdam Pakdai
Kacha goli gilli danda tapu Or Pakdam Pakdai
Bachpan ke wo saare khel abhi se hamne chore bhai

Tin ka dabba pit pitkar
Ha ka dabba pit pitkar
Ek naye se dhun hain banayi

Geet likhega kon batyo
Humko to na aati likhai
Are ye likhega naa yaar
Madhaw madhaw likhega
Are likh to
Are sochne to de

Atkan chatkan dhai chatokan
Sabse phale kehata bachpan

Na hai bangla na hai gaddi
Phir bhi dil ke raja hain hum

Atkan chatkan dhai chatokan
Sabse phale kehata bachpan

Na hai bangla na hai gaddi
Phir bhi dil ke raja hain hum

Banjaare hain hum saare umbar ke jaise sitare
A, B,C aati nhi
Sun le babu tu sitti

Badi tej hai apni paltan

Raja gaya dehli delhi se laya billi
Biili maara panja raja ho gaya ganja

Kadam bhale chhote hain tej apni rafftar hai
Udankhtola nhi hai lekin sapno ki bharmaan hai

Koi aake bhi puuche humari bhi wish keh
Dungi usko dila do wo desh
Dish Dish Dish
Are budhdhu Dish nahi desh

Akkad Bakad bambe bol 80,90 Pure 100
100 se nikala dhaga chor nikal ke bhaga

Kadam bhale chhote hain tej apni rafftar hai
Udankhtola nhi hai lekin sapno ki bharmaan hai

Sun lenge jis din hum apni kahani
Mutthi mein rang bhar ke
Zindagi se lad jhagad ke
Poore kar lengaye armmano ko

Atkan Chatkan Dhai Chatokan
Sabse Phale Kehata Bachpan

Na hai bangla na hai gaddi
Phir bhi dil ke raja hain hum

Banjaare hain hum saare umbar ke jaise sitare
A, B,C aati nhi sun le babu tu sitti

Atkan chatkan dhai chatokan
Sabse phale kehata bachpan

Na hai bangla na hai gaddi
Phir bhi dil ke raja hain hum

अटकन चटकन Atkan Chatkan Lyrics in HINDI

कंचा गोली गिल्ली डांडा टोपू और पकड़म पकड़ाई
बचपन के वो सारे खेल अभी से हमने छोड़े भाई

टीन का डब्बा पीट पीट कर
हाँ टीन का डब्बा पीट पीट कर
एक नयी सी धुन बनाए
गीत लिखेगा कौन बताओ
हमको तो ना आती लिखाई

अरे ये लिखे ना यार
माधव माधव लिखेगा
अरे लिख तो
अरे सोचने तो दे

अटकन चटकन दही चटोकन
सबसे पहले कहता बचपन
न है बंगला ना है गाड़ी
फिर भी दिल के राजा है हम

अटकन चटकन दही चटोकन
सबसे पहले कहता बचपन
न है बंगला ना है गाड़ी
फिर भी दिल के राजा है हम

बंजारे हम सारे अंबर के जैसे सितारे
ए बी सी आती नहीं सुन ले बापू तू सिटी

बड़ी तेज है अपनी पलटन

राजा गया दिल्ली दिल्ली से लाया बिल्ली
बिल्ली ने मारा पंजा राजा हो गया गाँजा

कदम भले छोटे है तेज अपनी रफ्तार है
उड़ंखटोला नहीं है लेकिन अपनोंकी भरमार है

कोई आके भी पूछे हमारी भी रेस
तो कह दूँगी की दिला दे वो डेस
डिस डिस डिस डिस
अरे बुधधु डिस नहीं डेस

अक्कड़ बक्कड़ बाम्बे बो अस्सी नब्बे पूरे सौ
सौ से निकला धागा चोर निकल कर के भागा

कदम भले छोटे है तेज अपनी रफ्तार है
उड़ंखटोला नहीं है लेकिन सपनों की भरमार है

हाँ जी करेंगे, करेंगे सब वाह वाह जी
सुन लेंगे जिस दिन अपनी कहानी
मुट्ठी मे बंद करके जिंदगी से लड़ झगड़ के
पूरे कर लेंगे अरमानो को

अटकन चटकन दही चटोकन
सबसे पहले कहता बचपन
न है बंगला ना है गाड़ी
फिर भी दिल के राजा है हम

बंजारे हम सारे अंबर के जैसे सितारे
ए बी सी आती नहीं सुन ले बापू तू सी डी

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *