फ़ितरत Fitrat Lyrics – Suyyash Rai

फ़ितरत Fitrat Lyrics in Hindi is sung and written by Suyyash Rai. Video of the latest hindi song is directed by Jay Parikh, Music is given by Viplove Rajdeo.

Song : Fitrat
Writer : Suyyash Rai
Singer : Suyyash Rai
Music : Viplove Rajdeo

Fitrat Lyrics Suyyash Rai
Fitrat Lyrics Suyyash Rai

Fitrat Lyrics in ENGLISH

Kya Kahun Tumhe Tum Meri Ho
Tum Meri Ho, Tum Meri Ho
Ek Pal Bhi Tum Door Jaate Ho
Dar Lagne Lagta Hai Humko

Kabhi Kabhi Sochta Hu
Ki Main Tumko
Meri Baahon Mein Bhar Lu
Hamesha Ke Liye

Meri Fitrat Badal Rahi Hai
Meri Hasrat Badal Rahi Hai
Meri Rooh Mein Hai Tu
Kya Karun

Meri Fitrat Badal Rahi Hai
Meri Hasrat Badal Rahi Hai
Meri Rooh Mein Hai Tu
Kya Karun, Kya Karun

Khoya Rahta Hu Main
Khoya Rahta Hu Main
Tujhme Hi Har Dafa

Khoya Rahta Hu Main
Khoya Rahta Hu Main
Tujhme Hi Har Dafa

Teri Hi Baaton Mein Khayalon Mein
Main Uljha Rahta Hu
Karta Rehta Hu Main
Khud Se Hi Sawal

Ke Laut Ayoge Ghar Pe Phir Se
Aayoge Seene Se Lagayoge Humko Dil Se
Haan Apna Banayoge
Humse Kabhi Na Jayoge Door

Ke Laut Aayoge Ghar Pe Phir Se
Ke Laut Aayoge Ghar Pe Phir Se
Ke Apna Banaoge Phir Se
Ke Apna Banaoge

Meri Fitrat Badal Rahi Hai
Meri Hasrat Badal Rahi Hai
Meri Rooh Mein Hai Tu
Kya Karun

Meri Fitrat Badal Rahi Hai
Meri Hasrat Badal Rahi Hai
Meri Rooh Mein Hai Tu
Kya Karun

Kya Karun !!

फ़ितरत Fitrat Lyrics in HINDI

क्या कहूँ तुम्हें तुम मेरी हो
तुम मेरी हो तुम मेरी हो
इक पल भी तुम दूर जाते हो
डर लगने लगता है हमको

कभी कभी सोचता हूँ
कि मैं तुमको
मेरी बाहों में भर लूँ
हमेशा के लिए

मेरी फ़ितरत बदल रही है
मेरी हसरत बदल रही है
मेरी रूह में है तू
क्या करूँ

मेरी फ़ितरत बदल रही है
मेरी हसरत बदल रही है
मेरी रूह में है तू क्या करूँ
क्या करूँ, क्या करूँ

खोया रहता हूँ मैं
खोया रहता हूँ मैं
तुझमें ही हर दफ़ा

खोया रहता हूँ मैं
खोया रहता हूँ मैं
तुझमें ही हर दफ़ा

तेरी ही बातों में ख़यालों में
मैं उलझा रहता हूँ
करता रहता हूँ मैं
ख़ुद से ही सवाल

के लौट आओगे घर पे फिर से
आओगे सीने से लगाओगे हमको दिल से
हाँ अपना बनाओगे
हमसे कभी ना जाओगे दूर

के लौट आओगे घर पे फिर से
के लौट आओगे घर पे फिर से
के अपना बनाओगे फिर से
के अपना बनाओगे

मेरी फ़ितरत बदल रही है
मेरी हसरत बदल रही है
मेरी रूह में है तू
क्या करूँ

मेरी फ़ितरत बदल रही है
मेरी हसरत बदल रही है
मेरी रूह में है तू
क्या करूँ

क्या करूँ !!

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *