मज़ा Mazaa Lyrics – B Praak

मज़ा Mazaa Lyrics in Hindi is written by Jaani and sung by B Praak. Music is also given by B Praak. The song featuring Hansika & Gurmeet and the video is directed by Arvindr Khaira.

Song : Maaza Lyrics
Writer : Jaani
Singer : B Praak
Music : B Praak
Starring : Hansika & Gurmeet

Mazaa Lyrics B Praak
Mazaa Lyrics B Praak

Mazaa Lyrics in ENGLISH

Main Ghairon Ki Baahon Mein
Dekha Hai So Ke
Sach Batayein Mazaa Aa Gaya

Tu Tu Hai Meri Jaan
Koyi Tujh Sa Kahin Na
Thi Unki Jo Khushbu Samjh Aa Gaya

Main Ghairon Ki Baahon Mein
Dekha Hai So Ke
Sach Batayein Mazaa Aa Gaya
Tu Tu Hai Meri Jaan
Koyi Tujh Sa Kahin Na
Thi Unki Jo Khushbu Samjh Aa Gaya

Bhatak Gaye The
Hum Ek Shaam Ko
Kiya Hai Kharaab
Kharaab Tere Naam Ko

Kyon Dil Tera Toda
Yeh Puchhne Kal To
Sapne Mein Mere Khuda Aa Gaya

Main Ghairon Ki Baahon Mein
Dekha Hai So Ke
Sach Batayein Mazaa Aa Gaya

Tu Tu Hai Meri Jaan
Koyi Tujh Sa Kahin Na
Thi Unki Jo Khushbu Samjh Aa Gaya

Dariya Yeh Dariya Dariya Na Hota
Na Hota Jo Iska Kinaara
Akal Thikane Aayi Hamari
Tumse Bichad Kar Oh Yaara

Dariya Yeh Dariya Dariya Na Hota
Na Hota Jo Iska Kinaara
Akal Thikane Aayi Hamari
Tumse Bichad Kar Oh Yaara

Raat Ko Nikla Tha Teri Gali Se
Thokar Main Khaa Ke Subah Aa Gaya

Main Ghairon Ki Baahon Mein
Dekha Hai So Ke
Sach Batayein Mazaa Aa Gaya

Tu Tu Hai Meri Jaan
Koyi Tujh Sa Kahin Na
Thi Unki Jo Khushbu Samjh Aa Gaya

Yeh Akhari Ghalti Thi Akhari Mauka
Dede Dena Mujhko Tu Saaki
Ab Tere Pairon Mein Kaatenge Yaara
Jitni Bhi Zindagi Hai Baaki

Yeh Akhari Ghalti Thi Akhari Mauka
Dede Dena Mujhko Tu Saaki
Ab Tere Pairon Mein Kaatenge Yaara
Jitni Bhi Zindagi Hai Baaki

Ho Jaani Ke Andar Jo Jaani Awara Tha
Jaani Woh Khud Hi Jala Aa Gaya

Main Ghairon Ki Baahon Mein
Dekha Hai So Ke
Sach Batayein Mazaa Aa Gaya

Tu Tu Hai Meri Jaan
Koyi Tujh Sa Kahin Na
Thi Unki Jo Khushbu Samjh Aa Gaya

मज़ा Mazaa Lyrics in HINDI

मैं ग़ैरों की बाँहों में
देखा है सो के
सच बताएं मज़ा आ गया

तू तू है मेरी जां
कोई तुझ सा कहीं ना
ली उनकी जो खुशबू समझा गया

मैं ग़ैरों की बाँहों में
देखा है सो के
सच बताएं मज़ा आ गया

तू तू है मेरी जां
कोई तुझ सा कहीं ना
ली उनकी जो खुशबू समझा गया

भटक गए थे हम एक शाम को
किया है ख़राब
ख़राब तेरे नाम को

क्यों दिल तेरा तोड़ा
ये पूछने कल तो
सपने में मेरे ख़ुदा आ गया

मैं ग़ैरों की बाँहों में
देखा है सो के
सच बताएं मज़ा आ गया

तू तू है मेरी जां
कोई तुझ सा कहीं ना
ली उनकी जो खुशबू समझा गया

दरिया ये दरिया दरिया ना होता
ना होता जो इसका किनारा
अकल ठिकाने आयी हमारी
तुमसे बिछड़ कर ओ यारा

दरिया ये दरिया दरिया ना होता
ना होता जो इसका किनारा
अकल ठिकाने आयी हमारी
तुमसे बिछड़ कर ओ यारा

रात को निकला था तेरी गली से
ठोकर मैं खा कर सुबह आ गया

मैं ग़ैरों की बाँहों में
देखा है सो के
सच बताएं मज़ा आ गया

तू तू है मेरी जां
कोई तुझ सा कहीं ना
ली उनकी जो खुशबू समझा गया

ये आखरी गलती थी आखरी मौका
दे देना मुझ को तू साकी
अब तेरे पैरों में काटेंगे यारा
जितनी भी ज़िन्दगी है बाकी

ये आखरी गलती थी आखरी मौका
दे देना मुझ को तू साकी
अब तेरे पैरों में काटेंगे यारा
जितनी भी ज़िन्दगी है बाकी

हो जानी के अंदर जो जानी आवारा था
जानी वो खुद ही जला आ गया

मैं ग़ैरों की बाँहों में
देखा है सो के
सच बताएं मज़ा आ गया

तू तू है मेरी जां
कोई तुझसा कहीं ना
ली उनकी जो खुशबू समझा गया

Tags:

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *